ग्यारह मुखी रुद्राक्ष के फायदे | 11 Mukhi Rudraksha Benefits in Hindi

Share With Your Friends

11 Mukhi Rudraksha:ग्यारह मुखी रुद्राक्ष साक्षात् रुद्रस्वरूप माना गया है।11 मुखी नेपाली रुद्राक्ष में 11 रुद्रों (भगवान शिव के 11 रूप) की शक्ति होती है।एकादश मुखी रुद्राक्ष को ग्यारहवें रुद्रावतार साक्षात हनुमान जी का रूप माना गया है । हजारों अश्वमेध यज्ञ का पुण्य इसे धारण करने से प्राप्त होता है। चंद्र ग्रहण में किया हुआ दान और हजारों बाजपेय यज्ञ का फल इस रुद्राक्ष को धारण करने से प्राप्त होता है। इस रुद्राक्ष को धारण करने से फिर से भूलोक में जन्म लेने की नौबत नहीं आती।

इसे संकटमोचन रुद्राक्ष भी कहते हैं क्योंकि यह प्रत्येक प्रकार के संकट क्लेश, उलझन व समस्याओं को दूर करके पराक्रम,साहस और आत्मशक्ति को बढ़ाता है।इसे वाहन में लगाने से दुर्घटना से बचाव होता है, दुर्घटना का भय समाप्त होता है।11 Mukhi Rudraksha में शिव और हनुमान की शक्ति निहित है। अगर स्त्री इसे संतान लाभ के लिए धारण करती है तो उसे लाभ होता है।11 मुखी रुद्राक्ष को धारण करने से एकादशी व्रत के फल के सामान फल की प्राप्ति होती है। कई लोग इसे चन्द्रमा का रुद्राक्ष भी कहते है।

ग्यारह मुखी रुद्राक्ष कैसा होता है(how to identify 11 mukhi rudraksha)

ग्यारह मुखी रुद्राक्ष में 11 धारियाँ बनी होती है।इन धारियों का आकार छोटा बड़ा हो सकता है। यह आकार में यह गोल अंडाकार होता है। नेपाल का 11 मुखी रुद्राक्ष श्रेष्ठ होता है। जो सामान्य आकार से आंवले आकार को हो सकता है। इंडोनेशिया 11 मुखी का आकार छोटा होता है जिसे माला में प्रयोग किया जाता है।

पहले चित्र में ११ मुखी रुद्राक्ष जो नेपाल का है और आकर में गोल है। जिसमे हमने तीर के निशान की सहायता से ११ मुखों को चिन्हित किया है।

11 mukhi rudraksha benefits,11 mukhi rudraksha nepal
११ मुखी गोल नेपाली रुद्राक्ष

दुसरे चित्र में ११ मुखी नेपाली रुद्राक्ष है जो अंडाकार है। इसमें भी मुखों तो तीर के निशान की सहायता से दर्शाया है। इसमें रुद्राक्ष के कुछ मुख तो बड़े है लेकिन दो मुख बहुत ही छोटे नजर आ रहे है। इसमें मुख स्पष्ट न हो तो यह १० मुखी रुद्राक्ष नजर आने लगेगा। इसलिए इसकी X-RAY रिपोर्ट जरूरी होती है जिससे इसके अंदर की संरचना भी देखि जा सके। यह भी हो सकता है की ८ मुखी रुद्राक्ष में लकीरो को मध्य से काट कर १० मुखी या ११ मुखी को बनाया जा सकता है। इसलिए इन रुद्राक्षों को बड़े ध्यान पूर्वक खरीदना चाहिए।

11 mukhi rudraksha ke fayde,11 muhki rudraksha oval shape
११ मुखी नेपाली रुद्राक्ष अंडाकार

ग्यारह मुखी रुद्राक्ष पहनने के फायदे(11 Mukhi Rudraksha Benefits)

11 मुखी रुद्राक्ष के कुछ फायदे जो लोगो को उनके अनुभव के आधार पर प्राप्त हुए है –

  • यह पहनने वाले के लिए एक दिव्य आशीर्वाद है।
  • अगर किसी स्त्री की कुंडली में वैधव्य योग है तो उसे यह रुद्राक्ष धारण करना चाहिए इससे पति की आयु वृद्धि होगी।
  • इस रुद्राक्ष को पहनने से सौभाग्य की वृद्धि होती है।
  • यह कुंडली में सभी ग्रहों और प्रतिकूल योगों को शांत करता है।
  • यह आपके भाग्य के मजबूत करके आपको सफल बनता है ।
  • यह बच्चों के लिए एक शक्तिशाली ताबीज है जो उन्हें बुरी नजर, नकारात्मक प्रभाव और गलत संगती से बचाता है।
  • यह पुराने बुरे कर्मों के प्रभाव को कम करता है और अच्छे कर्मों की और अग्रसर करता है।
  • यह आपको शिक्षा, करियर, स्वास्थ्य, रिश्ते, व्यवसाय, प्रतियोगी परीक्षा आदि सभी प्रकार की चीजों में सफलता प्रदान करता है।
  • यह सफलता को आपकी आदत बना देता है और आपको आपके प्रयासों के बदले उचित प्रतिफल देता है।
  • यह संपत्ति, धन, ऐश्वर्य, सुख वाहन और समृद्धि लाता है और उसे बढ़ाता है।
  • यह किसी भी बुरी या नकारात्मक चीज को रोकता है और जीवन को अपार समृद्धि से भर देता है।
  • यह आपको दीर्घायु प्रदान करता है।
  • यह आपको परिपक्व, समझदार, जिम्मेदार और निर्णायक बनाता है।
  • यह आपके अवचेतन मन और छठी इंद्री को सक्रिय करता है।
  • यह आपको ध्यान, योग, कुंडलिनी जागरण और चक्र संतुलन जैसे आध्यात्मिक अभ्यासों में एक गहरा स्तर हासिल करने में मदद करता है।
  • यह रिश्तों को सामंजस्यपूर्ण और मजबूत बनाता है।
  • यह सद्गुणों को बढ़ावा देता है और अवगुणों में लिप्त होने से रोकता है।
  • इस रुद्राक्ष को पहनने से सौभाग्य की वृद्धि होती है।

11 मुखी रुद्राक्ष किस लग्न के लोग पहन सकते है

11 मुखी रुद्राक्ष को हर लग्न और राशि का व्यक्ति धारण कर सकता है। जिन व्यक्तियों की कुंडली में अधिकतम ग्रहों का दोष हो या सभी ग्रहों को संतुलित करना हो तो 11 मुखी रुद्राक्ष को अभिमंत्रित करके धारण किया जाना चाहिए।

ग्यारह मुखी रुद्राक्ष धारण करने का मंत्र(11 Mukhi Rudraksha Mantra)

11 मुखी रुद्राक्ष को धारण करने का मंत्र “ॐ ह्रीं हुं नमः” है । ”ॐ तत्पुरुषाय विदमहे महादेवय धीमही तन्नो रुद्रः प्रचोदयात ” को भी 11 Mukhi Rudraksha Mantra के रूप में जाना जाता है। इसे धारण करने के लिए रुद्राक्ष की माला से १०८ बार जप करना होता है।

ॐ रूं क्षूं मूं यूं ॐ । इति मंत्रः।

ग्यारह मुखी रुद्राक्ष विनियोग मंत्र(11 Mukhi Rudraksha Viniyoga Mantra)

अस्य श्रीरूद्र मंत्रस्य काश्यप ऋषिः अनुष्टुप्छन्दः रुद्रोदेवता रूं बीजं क्षूं शक्ति: अभीष्ट सिद्धयर्थे रुद्राक्ष धारणार्थे जपे विनियोगः।

११ मुखी रुद्राक्ष न्यास मंत्र (11 Mukhi Rudraksha Nyas)

काश्यप ऋषिये नमः शिरषि
अनुष्टुप छन्दसे नमो मुखे
रूद्र देवताये नमो हृदि
रूं बीजाय नमो गुहां
क्षूं शक्तये नमः पादयो:।।

अथ करन्यासः(11 Mukhi Rudraksha Karnyas Mantra)

ॐ ॐ अंगुष्ठाभ्याम नमः
ॐ रूं तर्जनीभ्याम स्वाहा:
ॐ क्षूं मध्याभ्याम वौषट।
ॐ मूं अनामिकाभ्याम हुम्।
ॐ यूं कनिष्ठाभ्याम वौषट।
ॐ ॐ करतल कर पुष्ठाभ्यां फट।

अथाङ्ग न्यासः ( 11 Mukhi Rudraksha Nyas Mantra)

ॐ ॐ हृदयाय नमः
ॐ रूं शिरसे स्वाहा
ॐ क्षूं शिखाये वौषट।
ॐ मूं कवचाय हूँ
ॐ यूं नेत्रत्रयाय वौषट
ॐ ॐ अस्त्राय फट ।

अथ ध्यानम (11 Mukhi Rudraksha Dhyanam)

बाला कार युत तेजसं धृत जटा जुटेअंज खण्डोज्ववलं।
नागेन्द्रे: कृतशेखरं जप वटी शूलम कपालम करेः।।
खट्टवाङ्गं दधतम त्रिनेत्रविल सत्तपञ्चाननं सुंदरम।
व्याघ्रत्वक्परिधानमब्जनिलयम श्रीनीलकण्ठं भजेत।।

ग्यारह मुखी रुद्राक्ष किस ग्रह के लिए है(11 Mukhi Rudraksha Planet)

11 मुखी रुद्राक्ष सभी ग्रहों (All Planets) को संतुलित करता है। यह कुंडली में बने दुर्योगों को दूर करता है।इस लिए सभी ग्रहों या किसी भी ग्रह के लिए धारण किया जा सकता है।लेकिन अंक ज्योतिष(Numerology) के अनुसार लोग इसे चन्द्रमा(Moon) के लिए भी धारण करते है क्योंकि में ११ को १+१ =२ माना जाता है जो चंद्र ग्रह का प्रतिनिधितव करता है। अन्य दुर्योगों को दूर करने के लिए और चन्द्रमा को संतुलित करने के लिए दो मुखी रुद्राक्ष के स्थान पर ११ मुखी रुद्राक्ष का प्रयोग किया जा सकता है।

ग्यारह मुखी रुद्राक्ष प्रदीप मिश्रा जी(11 Mukhi rudraksha By Pradeep Mishra)

शिवपुराण कथावाचक पंडित प्रदीप मिश्रा जी (सीहोर वाले ) ने अपनी कथा में 11 मुखी रुद्राक्ष के बारे में बताया है की –

“ये भी रोग मुक्ति के लिए है ब्लड प्रेशर के लिए है महाराज। जिसका बीपी ऊपर नीचे होता हो चक्कर आते हो ११ मुखी रुद्राक्ष को और १२ मुखी रुद्राक्ष को पहनना चाहिए।”

ग्यारह मुखी रुद्राक्ष की कीमत(11 Mukhi Rudraksha Price)

11 मुखी नेपाली रुद्राक्ष सामान्य आकार का आपको 4000 रुपये के आस पास मिल जायेगा। कुछ बेहतर गुणवत्ता का 11 Mukhi Rudraksha (collector beads) जो नेपाली बड़े आकार आंवला आकार का होता है उनकी कीमत 8000 रुपये के आस पास होती है ।

आवश्यक जानकारी :11 मुखी रुद्राक्ष के बारे में जानकारी विभिन्न पुस्तकों और अनुभव के आधार पर प्रदान की गयी है। हम पाठको से अनुरोध करते है की रुद्राक्ष के तथ्यों पर अपना विवेक का प्रयोग अवश्य करे।


Share With Your Friends

About Antriksh

Check Also

rudraksha diksha kya hai,isha rudraksha diksha hindi

रुद्राक्ष दीक्षा क्या है|What is Rudraksha Diksha in Hindi

Share With Your Friends Rudraksha Diksha:ईशा योग के संस्थापक सद्गुरु(Sadhguru Jaggi Vasudev) द्वारा हर साल …