मिट्टी का शिवलिंग कैसे बनाएं

1
62

श्रावण के महीने में शिव जी की पूजा का विशेष महत्व है। वंही शिवरात्रि पर भी शिव जी की आराधना की जाती है। शिव जी के भक्त मंदिरो में शिव जी का अभिषेक करने के लिए जाते है। लेकिन कई बार हम किसी कारण मंदिर नहीं जा पाते जैसे lockdown के दौरान ही कई मंदिरो के द्वार भक्तो के लिए बंद रखे गए। ऐसे में अगर आपके घर शिवलिंग जैसे नर्मदेश्वर शिवलिंग ,पारद शिवलिंग या अन्य कोई शिवलिंग न हो तो आप शिव जी की पूजा कैसे करेंगे। ऐसे में मिटटी के पार्थिव शिवलिंग का निर्माण कर आप शिवलिंग का पूजन कर सकते है। यह एक सरल विधि है जो हर कोई शिवलिंग बना सकता है। तो आइये देखते है की मिट्टी का शिवलिंग कैसे बनाया जाता है।

mitti-ke-shivling,पार्थिव शिवलिंग फोटो

मिट्टी का शिवलिंग निर्माण में कैसी मिट्टी का प्रयोग करना चाहिए

ब्राह्मण के लिये श्वेत, क्षत्रिय के लिये लाल, वैश्य के लिये पीली, और शूद्र के लिये काली मिट्टी से शिवलिङ्ग बनाने का विधान है लेकिन हम देखते है की आज के समय सफ़ेद मिट्टी ,लाल और पीली मिट्टी हर स्थान पर उपलभ्ध नहीं है इसलिए जहाँ जो मिट्टी मिल जाये, उसी से शिवलिङ्ग बनाये।शिवलिंग निर्माण में शुद्ध स्थान की मिट्टी प्रयोग में लानी चाहिए। जैसे किसी खेत की मिट्टी ,किसी मंदिर परिसर से मिट्टी ,तालाब की मिट्टी ,पहाड़ो की मिट्टी या किसी ऐसे स्थान की मिट्टी जहा उस मिट्टी में गन्दगी नहीं मिलती हो। वंहा की मिट्टी को एक थैले में भरकर के ले आये।

मिट्टी से शिवलिंग का निर्माण कैसे करे

सबसे पहले बाहर से लाइ गयी मिट्टी को धूप में में सूखा ले जिससे की उसमे अगर कोई जीव या चींटिया है तो वह बाहर निकल जाए।

उसके बाद मिट्टी को अगर ढेले के रूप में है तो उसे भूर भूरा कर ले।

इसके बाद मिट्टी को चलनी की सहायता से छान ले।

मिट्टी को छानने के बाद उसमे आवश्यकता अनुसार पानी मिलाये और जैसा हम आटे को गूथते है वैसा उस मिट्टी को भी एक समान करे।मिट्टी को एक पात्र जैसे पूजा की थाली या कोई अन्य थाली में रख ले।

शिवलिंग में पानी आप किसी पवित्र नदी का ले तो अच्छा होगा अगर आपके आसपास नदी नहीं है तो आप मार्केट से गंगा जल ला सकते है। अगर यह भी नहीं है तो आप बोतल वाला पानी भी ला कर उपयोग कर सकते है। और सबसे अच्छा यह है की जिस समय आपके घर नल आते हो उस समय आप पानी को छान कर अलग से रख लीजिये।

सबसे पहले शिवलिंग का निर्माण कर लीजिये। इसके लिए आपको मिट्टी को रोल करके उसे एक आकार देना होगा।

अब आप योनि या शक्ति स्थान जो शिवलिंग का परिसर होता है उसका निर्माण कर लीजिये।

मिट्टी का शिवलिंग,पार्थिव शिवलिंग बनाने की विधि,

अब आप वासुकि नाग का निर्माण कर लीजिये।

अब शिवलिंग ,शक्ति और नाग को जोड़ दीजिये। और गीली मिट्टी का लेप इस पुरे निर्माण पर लगा दीजिये ताकि यह जोड़ कंही से नजर ना आये।और सूखने के लिए रख दीजिये।

सुखजाने के पश्चात हम थोड़ी और गीली मिट्टी का लेप इस पर लगा देते है ताकि कोई दरार इसमें आई हो तो वह नजर ना आये।

mitti ke shivling ka photo,parthiv shivling kaisa dikhta hai

अब यह मिट्टी से निर्मित पार्थिव शिवलिंग पूजन हेतु तैयार है। हम जब भी शिवलिंग का पूजन करना चाहते है उस समय शिवलिंग का निर्माण एक दो दिन पहले ही कर लेना चाहिए।

पार्थिव शिवलिंग फोटो,मिट्टी के शिवलिंग कैसे बनाएं

पार्थिव शिवलिंग की पूजा कैसे करे इसकी विधि भी हमने हमारी इस पोस्ट में दी है।

शिवलिंग निर्माण में कौन से मिट्टी प्रयोग में लाये ?

शिवलिंग निर्माण में शुद्ध स्थान की मिट्टी प्रयोग में लानी चाहिए। जैसे किसी खेत की मिट्टी ,किसी मंदिर परिसर से मिट्टी ,तालाब की मिट्टी ,पहाड़ो की मिट्टी या किसी ऐसे स्थान की मिट्टी जहा उस मिट्टी में गन्दगी नहीं मिलती हो।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here