श्री विंध्यवासिनी चालीसा हिंदी में (Vindhyavasini Chalisa With Hindi Meaning)

श्री विन्ध्येश्वरी चालीसा हिंदी अर्थ के साथ, विन्ध्येश्वरी चालीसा हिंदी में, विंध्यवासिनी चालीसा हिंदी में ,Vindhyavasini chalisa With Hindi Meaning, Vindhyavasini chalisa Lyrics in Hindi

चाहे शक्ति की देवी माँ दुर्गा हो या माँ भवानी माँ आदिशक्ति के कई रूप है और देवी के हर रूप भक्तों के लिए पूजनीय है। देवी माँ के अलग अलग रूपों का अध्यात्म और तंत्र जगत में अपना अलग ही प्रभाव है। उन्ही गुणों को आत्मसात करने के लिए या उद्देश्य प्राप्ति के लिए उनकी पूजा की जाती है। इसी में माँ दुर्गा का एक रूप माँ विन्ध्येश्वरी बहुत ही महत्वपूर्ण है जो इस सृष्टि के अस्तित्व में आदि भी है और अनंत भी है। आज हम हमारे ब्लॉग पर विंध्यवासिनी चालीसा के चोपाई और उसके अर्थ को हिंदी (vindhyavasini chalisa in Hindi) में जानेंगे।

Vindheshwari Chalisa With Hindi Meaning, विन्ध्येश्वरी चालीसा हिंदी में

इससे आपको श्री विंध्यवासिनी चालीसा (Vindheshwari Chalisa Lyrics) का महत्व समझ में आएगा। इसी के साथ आपको विंध्यवासिनी चालीसा को पढ़ने के फायदे भी जानने को मिलेंगे।

विंध्यवासिनी चालीसा को पढ़ने के के लाभ (Vindhyavasini Chalisa Benefits In Hindi)

विन्ध्येश्वरी चालीसा(Vindheshwari Chalisa) जिसे हम विंध्यवासिनी चालीसा (Vindhyavasini Chalisa) भी कह सकते हैं इसे पढ़ने से भक्त को कई प्रकार के लाभ होते है जिसमे से लाभों के बारे में चालीसा के अर्थ में बताया है। देवी माँ के 51 शक्तिपीठों में से एक शक्तिपीठ माँ विंध्यवासिनी का भी है जो उत्तर प्रदेश राज्य में विन्ध्य पर्वत पर स्थित है। उसकी महत्ता इतनी अधिक है कि हर वर्ष लाखों की संख्या में श्रद्धालु वहां मातारानी के दर्शन करने हेतु विंध्यवासिनी धाम आते हैं।

Maa Vindhyavasini ,Vindheshwari Chalisa hindi

यदि आप अपने घर पर ही नियमित रूप से माँ विन्ध्यवासिनी चालीसा का पाठ करते हैं और सच्चे मन से माँ का ध्यान करते हैं तो माँ की कृपा दृष्टि आप पर होती है। इससे ना केवल आपका मन शांत व निर्मल होता है बल्कि आपके जीवन में जो भी कठिनाइयाँ आ रही थी, वह भी स्वतः ही दूर हो जाती है।

  • देवी शक्ति की उपासना करने से व्यक्ति में आत्मबल और आत्मविश्वास का विकास होता है।
  • आपके घर में भी सुख-समृद्धि में वृद्धि देखने को मिलती है तथा तनाव दूर होता है।
  • व्यक्ति में भय बना रहता है वह दूर होता है।
  • कुंडली में राहु के दोष का दमन होता है।

विंध्यवासिनी चालीसा हिंदी अर्थ सहित (Vindhyavasini Chalisa With Hindi Meaning)

।। दोहा ।।

नमो नमो विन्ध्येश्वरी, नमो नमो जगदम्ब ।
सन्तजनों के काज में, करती नहीं विलम्ब॥

हिंदी अर्थ – हे विन्ध्येश्वरी माँ! आपको हमारा नमन है, नमन है। हे जगदम्बे माँ! आपको हमारा नमन है, नमन है। आप सज्जन लोगों के कामकाज को करने में देरी नहीं करती हैं और उन्हें तुरंत ही पूरा कर देती हैं।

।। चौपाई ।।

जय जय जय विन्ध्याचल रानी।
आदिशक्ति जगविदित भवानी॥1॥

हिंदी अर्थ – विन्ध्याचल पर्वत की रानी, आपकी जय हो, जय हो, जय हो। आप ही माँ आदिशक्ति और भवानी हो जिसे पूरा जगत जानता है।

सिंहवाहिनी जै जगमाता ।
जै जै जै त्रिभुवन सुखदाता॥2॥

हिंदी अर्थ – आपका वाहन सिंह है और आप जगत की माता है। आप तीनों लोकों में सुख प्रदान करने वाली है, इसलिए आपकी जय हो।

कष्ट निवारण जै जगदेवी ।
जै जै सन्त असुर सुर सेवी॥3॥

हिंदी अर्थ – आपकी जय हो आप हम सभी के कष्टों को दूर करती हो। आपकी जय हो जय हो क्योंकि संत, देवता व दैत्य सभी आपकी सेवा में लगे रहते है।

महिमा अमित अपार तुम्हारी ।
शेष सहस मुख वर्णत हारी ॥
4

हिंदी अर्थ – आपकी महिमा का वर्णन तो हजारों मुख मिलकर भी नहीं कर सकते हैं।

दीनन को दु:ख हरत भवानी ।
नहिं देखो तुम सम कोउ दानी ॥5॥

हिंदी अर्थ – हे भवानी !आप हमेशा ही दुखी लोगों के दुःख को दूर करती है और आपसे बड़ा कोई दानी नहीं है।

सब कर मनसा पुरवत माता ।
महिमा अमित जगत विख्याता ॥6॥

हिंदी अर्थ – हे माता !आप हमारे मन की सभी इच्छाओं को पूरा करती हो और आपका वैभव संपूर्ण जगत में फैला हुआ है।

जो जन ध्यान तुम्हारो लावै ।
सो तुरतहि वांछित फल पावै ॥7॥

हिंदी अर्थ – जो भी आपका ध्यान करता है, उसे तुरंत ही उसका फल मिल जाता है।

तुम्हीं वैष्णवी तुम्हीं रुद्रानी ।
तुम्हीं शारदा अरु ब्रह्मानी ॥8॥

हिंदी अर्थ – आप ही माँ लक्ष्मी, माँ पार्वती, माँ शारदा व माँ सरस्वती हो।

रमा राधिका श्यामा काली ।
तुम्हीं मातु सन्तन प्रतिपाली ॥9॥

हिंदी अर्थ – आप ही माँ रमा, राधिका, श्यामा व काली हो। तुम्ही माता रूप में हम संतान रूपी भक्तो की रक्षा करती हो।

उमा माध्वी चण्डी ज्वाला ।
वेगि मोहि पर होहु दयाला ॥ 10॥

हिंदी अर्थ – आप ही माँ उमा, माधवी, चंडी व ज्वाला हो। अब आप मुझ पर कुछ दया कीजिये।

तुम्हीं हिंगलाज महारानी ।
तुम्हीं शीतला अरु विज्ञानी ॥11॥

हिंदी अर्थ – आप ही हिंगलाज की महारानी व शीतला माता के जैसे ज्ञान की देवी हो।

दुर्गा दुर्ग विनाशिनी माता ।
तुम्हीं लक्ष्मी जग सुख दाता ॥12॥

हिंदी अर्थ – आप ही माँ दुर्गा के जैसे विध्वंसक तथा लक्ष्मी माता के जैसे सुख देने वाली हो।

तुम्हीं जाह्नवी अरु रुद्रानी ।
हे मावती अम्ब निर्वानी ॥13॥

हिंदी अर्थ – आप ही माँ जाह्नवी, उत्रानी, हेमावती व अम्बा हो।

अष्टभुजी वाराहिनि देवा ।
करत विष्णु शिव जाकर सेवा ॥14॥

हिंदी अर्थ – आप ही आठ भुजाओं सहित माँ वाराहिनी देवी हो।आपकी तो स्वयं भगवान विष्णु व शिव सेवा करते हैं।

चौंसट्ठी देवी कल्यानी ।
गौरि मंगला सब गुनखानी ॥15॥

हिंदी अर्थ – आप माँ के चौंसठ रूप लिए माँ गौरी व मंगला हो।

पाटन मुम्बादन्त कुमारी ।
भाद्रिकालि सुनि विनय हमारी ॥16॥

हिंदी अर्थ – आप ही माँ पाटन, मुम्बा व दंतकुमारी हो। हे माँ भद्रकाली! अब आप हमारी विनती सुन लीजिये।

बज्रधारिणी शोक नाशिनी ।
आयु रक्षिनी विन्ध्यवासिनी ॥17॥

हिंदी अर्थ – आप बज्र को धारण करने वाली और हम सभी का दुःख दूर करने वाली हो। आप विंध्यवासिनी के रूप में हमारे जीवन की रक्षा करती हो।

जया और विजया वैताली ।
मातु सुगन्धा अरु विकराली ॥18॥

हिंदी अर्थ – आप ही माँ जया व विजया हो और हम सभी का संकट दूर करती हो।

नाम अनन्त तुम्हारि भवानी ।
वरनै किमि मानुष अज्ञानी ॥19॥

हिंदी अर्थ – आपके तो कई नाम है और मैं अज्ञान मनुष्य उन सभी को जान भी नहीं सकता हूँ।

जापर कृपा मातु तब होई ।
जो वह करै चाहे मन जोई ॥ 20॥

हिंदी अर्थ – जिस पर भी माँ की कृपा होती है, उसके सभी काम बन जाते हैं।

कृपा करहु मोपर महारानी ।
सिद्ध करहु अम्बे मम बानी ॥21॥

हिंदी अर्थ – हे मातारानी!! अब आप मुझ पर भी कृपा कीजिये और मेरे सब काम बना दीजिये।

जो नर धरै मातु कर ध्याना ।
ताकर सदा होय कल्याना ॥22॥

हिंदी अर्थ – जो भी मनुष्य माता विन्ध्येश्वरी का ध्यान करता है, उसका हमेशा ही कल्याण होता है।

विपति ताहि सपनेहु नाहिं आवै ।
जो देवीकर जाप करावै ॥23॥

हिंदी अर्थ – जो भी विन्धेश्वरी चालीसा का पाठ करता है, उसके सपने में भी किसी तरह की विपत्ति नहीं आती है।

जो नर कहँ ऋण होय अपारा ।
सो नर पाठ करै शत बारा ॥24॥

हिंदी अर्थ – जिस भी व्यक्ति पर ऋण अत्यधिक चढ़ गया है, उसे माता विंध्यवासिनी चालीसा का सौ बार पाठ करना चाहिए।

निश्चय ऋण मोचन होई जाई ।
जो नर पाठ करै चित लाई ॥25॥

हिंदी अर्थ – यदि वह सच्चे मन से माँ विन्धेश्वरी चालीसा का पाठ कर लेता है तो वह ऋण मुक्त हो जाता है।

अस्तुति जो नर पढ़े पढ़अवे ।
या जग में सो बहु सुख पावे ॥26॥

हिंदी अर्थ – जो भी व्यक्ति माँ विन्ध्येश्वरी स्तुति को पढ़ता है या दूसरों को सुनाता है, वह परम सुख को प्राप्त करता है।

जाको व्याधि सतावे भाई ।
जाप करत सब दूर पराई ॥27॥

हिंदी अर्थ – यदि आपको कोई रोग सता रहा है तो वह भी मातारानी की कृपा से दूर हो जाता है।

जो नर अति बन्दी महँ होई ।
बार हजार पाठ करि सोई ॥28॥

हिंदी अर्थ – यदि आप किसी जगह बंदी बना लिए गए हैं तो आपको रात में एक हज़ार बार विंध्यवासिनी चालीसा का पाठ करके सोना चाहिए।

निश्चय बन्दी ते छुट जाई ।
सत्य वचन मम मानहु भाई ॥29॥

हिंदी अर्थ – वह व्यक्ति अपने आप ही बंधन मुक्त हो जाता है और यह परम सत्य है।

जापर जो कछु संकट होई ।
निश्चय देविहिं सुमिरै सोई ॥ 30॥

हिंदी अर्थ – यदि आप पर किसी प्रकार का संकट आया है तो आपको निश्चित रूप से माँ विन्धेश्वरी देवी का ध्यान करना चाहिए।

जा कहँ पुत्र होय नहिं भाई ।
सो नर या विधि करे उपाई ॥31॥

हिंदी अर्थ – यदि किसी दंपत्ति को पुत्र प्राप्ति नहीं हो रही है तो उसे यह उपाय करना चाहिए।

पाँच वर्ष जो पाठ करावै ।
नौरातन महँ विप्र जिमावै ॥32॥

हिंदी अर्थ – उसे पांच वर्ष तक माँ विंध्यवासिनी चालीसा का पाठ करवाना चाहिए तथा नौरातन में विप्र को जिमाना चाहिए।

निश्चय होहिं प्रसन्न भवानी ।
पुत्र देहिं ता कहँ गुणखानी ॥33॥

हिंदी अर्थ – इससे माँ विंध्यवासिनी प्रसन्न होकर पुत्र प्राप्ति का आशीर्वाद देती है।

ध्वजा नारियल आन चढ़ावै ।
विधि समेत पूजन करवावै ॥34॥

हिंदी अर्थ – जो भी भक्तगण माँ विन्ध्येश्वरी को ध्वजा व नारियल चढ़ाता है, पूरे विधि-विधान के साथ पूजन करवाता/करता है

नित प्रति पाठ करै मन लाई ।
प्रेम सहित नहिं आन उपाई ॥35॥

हिंदी अर्थ – प्रतिदिन प्रेम पूर्वक सच्चे मन से विंध्यवासिनी चालीसा का पाठ करता है, उसपर किसी प्रकार की मुसीबत नहीं आती।

यह श्री विन्ध्याचल चालीसा ।
रंक पढ़त होवे अवनीसा ॥36॥

हिंदी अर्थ – इस विन्धयेश्वरी चालीसा का पाठ यदि कोई निर्धन भी करता है तो वह भी धन को प्राप्त करता है।

यह जन अचरज मानहु भाई ।
कृपा दृष्टि जापर होइ जाई ॥37॥

हिंदी अर्थ – यह एक सत्य बात है और आपको इसे मानना होगा।

जै जै जै जग मातु भवानी ।
कृपा करहु मोहि निज जन जानी ॥ 38॥

हिंदी अर्थ – हे माता भवानी!! आपकी जय हो और अब आप मुझ पर भी कृपा कीजिये।

श्री विंध्यवासिनी चालीसा महत्व (Vindhyavasini Chalisa Mahatva)

आपने माँ विंध्यवासिनी चालीसा (Vindhyavasini Chalisa lyrics in hindi) पढ़ी और साथ ही उसका हिंदी में अर्थ भी जाना। माँ विन्धेश्वरी के कई रूप व कई नाम है। ऐसे में माँ विध्येश्वरी साक्षात माँ दुर्गा का ही रूप है और इस रूप में उनकी महत्ता अत्यधिक बढ़ जाती है।

विन्धेश्वरी चालीसा के माध्यम से हमने देवी की शक्ति को जानने का प्रयास किया है। इससे हमें यह पता चलता है कि यदि हम सच्चे मन से माँ की भक्ति करते हैं और उनका ध्यान करते हैं तो अवश्य ही हमें मनवांछित फल की प्राप्ति होती है। यही विंध्यवासिनी चालीसा का महत्व है।

यह भी पढ़े :

Share Now

Leave a Comment

x