आठ मुखी रुद्राक्ष के फायदे | 8 Mukhi Rudraksha Benefits in Hindi

0
9

8 Mukhi Rudraksha:आठ मुखी रुद्राक्ष को प्रत्यक्ष भगवान गणेश का अवतार माना गया है।जिस प्रकार श्री गणेश विघ्नो को हर लेते है वैसे ही यह आठ मुखी रुद्राक्ष भी व्यक्ति के संकटो को हर लेता है। इसे धारण करने वाले व्यक्ति के जीवन में कभी अपयश नहीं आता। इससे कला में निपुणता तथा नेतृत्व का लाभ होता है विद्या प्राप्ति के लिए यह श्रेष्ठ तौर पर जाना जाता है।

आठ मुखी नेपाली रुद्राक्ष भगवान गणेश, अष्टसिद्धि और आठ लक्ष्मी का भी प्रतिनिधित्व करता है। इसका संबंध राहु और केतु ग्रह से भी है।

आठ मुखी रुद्राक्ष कैसा होता है(how to identify 8 mukhi rudraksha)

आठ मुखी रुद्राक्ष में 8 धारियाँ बनी होती है।यह आकार में यह गोल होता है। यह इंडोनेशिया ,नेपाल और भारत में पाया जाता है। इंडोनेशिया 8 mukhi rudraksha का आकार छोटा होता है ,उससे बड़ा भारत का और फिर नेपाली ८ मुखी रुद्राक्ष का आकार होता है।

8 muhki rudraksha ke fayde,8 Mukhi Rudraksha Benefits in Hindi

आठ मुखी रुद्राक्ष पहनने के फायदे(8 Mukhi Rudraksha Benefits)

8 मुखी रुद्राक्ष के कुछ अनुभव जो लोगो को प्राप्त हुए-

  • यह राहु के लिए आसान उपाय है।
  • यह राहु दशा में सर्वोत्तम परिणाम देता है।
  • यह आपको काल सर्प दोष से अप्रभावित रखता है।
  • यह बुद्धिमत्ता, ज्ञान और समस्या को सुलझाने के लिए कौशल और निर्णायकता विकसित करता है।
  • यह दिमागी कार्य क्षमता को तेज करता है इस प्रकार शिक्षा और अन्य मानसिक कार्यों में सफलता मिलती है।
  • यह रचनात्मक विचारों को उत्पन्न करने में मदद करता है।
  • अगर आप मीडिया, लेखन, पत्रकारिता, संचार और वाणी सम्बन्धी कार्य कर रहे है तो यह आपकी सफलता के लिए विशेष रूप से फायदेमंद है।
  • यह जीवन से संघर्ष को दूर करता है और जीवन को सुगम बनाता है।
  • अगर आप ध्यान साधना करते है तो यह अष्टसिद्धि के द्वार खोलता है; इसके अतिरिक्त, यह जादू, तंत्र और आध्यात्मिक प्रथाओं में सफलता सुनिश्चित करता है।
  • यह आपको आपके प्रयासों में सफलता दिलवाता है और आपको नए लक्ष्य देता है।
  • यह आपको दूसरों के लिए मजबूत प्रतिस्पर्धी बनाता है।
  • अगर आप विदेश में बसना चाहते है तो यह आपके लिए अच्छा उपाय है।
  • यह आपमें सुस्ती को दूर करता है और आपको मेहनती और उपलब्धि हासिल करने वाला बनाता है।
  • व्यापारियों को इसे अवश्य धारण करना चाहिए।
  • यह करियर में सफलता और स्थिरता लाता है।
  • यह मनोवैज्ञानिक मुद्दों और भय को दूर करता है।
  • यह धन, समृद्धि, विलासिता, आराम और प्रचुरता लाता है।
  • यह फेफड़ों के विकार, पित्ताशय, तंत्रिका तंत्र, अस्थमा, आघात और त्वचा की समस्याओं जैसे रोगों के लिए इसे धारण किया जा सकता है।

आठ मुखी रुद्राक्ष किस लग्न के लोग पहन सकते है

8 मुखी रुद्राक्ष को कोई भी लग्न का व्यक्ति धारण कर सकता है। लेकिन जिस लग्न में राहु-केतु भाग्य या पंचम का स्वामी है या उसके साथ बैठा है उसमे विशेष लाभ मिलता है। कुंडली में धन स्थान पर राहु -केतु हो तो इसे धारण करना चाहिए । इसके अलावा अगर आप गोमेद -लहसुनिया धारण नहीं कर सकते तो भी 8 मुखी रुद्राक्ष धारण करना चाहिए।

आठ मुखी रुद्राक्ष धारण करने का मंत्र(8 Mukhi Rudraksha Mantra)

आठ मुखी रुद्राक्ष को धारण करने का मंत्र “ॐ हूं नमः” है । इसे धारण करने के लिए रुद्राक्ष की माला से १०८ बार जप करना होता है।

ॐ ह्रां ग्रीं लं आं श्रीं। इति मंत्रः।

सात मुखी रुद्राक्ष विनियोग मंत्र(8 Mukhi Rudraksha Viniyoga Mantra)

अस्य श्री गणेशमन्त्रस्य भार्गवऋषिः अनुष्टुप छन्दः विनायको देवता ग्रीं बीजं आं शक्तिः चतुर्वर्गसिध्यर्थे रुद्राक्षधारणार्थे जपे विनियोगः। भार्गवः ऋषिये नमः शिरसि। अनुष्टप छन्दसे नमो मुखे। विनायक देवतायै नमो हृदि। ग्रीं बीजाय नमो गुह्रो। आं शक्तये नमः पादयोः।

अथ करन्यासः(8 Mukhi Rudraksha Karnyas Mantra)

ॐ ॐ अंगुष्ठाभ्यां नमः।

ॐ ह्रां तर्जनीभ्यां स्वाहा।

ॐ ग्रीं मध्यमाभ्यां वषट।

ॐ लं अनामिकाभ्यां हुं।

ॐ आं कनिष्ठिकाभ्यां वौषट।

ॐ श्रीं करतलकरपृष्ठाभ्यां फट ।।

अथाङ्ग न्यासः ( 8 Mukhi Rudraksha Nyas Mantra)

ॐ ॐ हृदयाय नमः। ॐ ह्रां शिरसे स्वाहा। ॐ ग्रीं शिखाए वषट।
ॐ लं कवचाय हुं। ॐ आं नेत्रत्रयाय वौषट। ॐ श्रीं अस्त्राये फट।।

अथ ध्यानम (8 Mukhi Rudraksha Dhyanam)

हरतु कुलगणेशो विघ्नसंधानशेषान।
जयतु च सकलं सम्पूर्णतां साधकानां।।
पिबतु बटुकनाथ: शोणितं निन्दकानां।
दिशतु सकल कमान कौलीकानां गणेशः।।

आठ मुखी रुद्राक्ष किस ग्रह के लिए है(8 Mukhi Rudraksha Planet)

8 मुखी रुद्राक्ष को राहु और केतु ग्रह के लिए धारण किया जाता है। अगर राहु या केतु किसी शुभ गृह के साथ बैठे है या किसी शुभ स्थान पर बैठे है तो इसके बुरे प्रभाव को कम करने के लिए आप आठ मुखी रुद्राक्ष धारण कर सकते है। इसके अलावा अगर आप राहु या केतु के रत्न धारण नहीं कर सकते या राहु/केतु ६-८-१२ में है तो भी आप इसे धारण कर सकते है।

काल सर्प दोष के लिए उपाय(8 Mukhi Rudraksha for Kaal Sarp Dosh )

अगर आपकी कुंडली में काल सर्प दोष निर्मित हो रहा है जो की राहु और केतु से बनता है तो भी आप ८ मुखी नेपाली रुद्राक्ष को अभिमंत्रित कर धारण कर सकते है। यह आपके दोषो को कम कर देगा।

आठ मुखी रुद्राक्ष प्रदीप मिश्रा जी(8 Mukhi rudraksha By Pradeep Mishra)

शिवपुराण कथावाचक पंडित प्रदीप मिश्रा जी ने अपनी कथा में 8 मुखी रुद्राक्ष के बारे में कहा है की –
यह रोग मुक्ति के लिए होता है महाराज। जिस व्यक्ति के घुटने में दर्द हो ,कमर में दर्द हो पीठ में दर्द हो या आपका शरीर कही न कही कष्ट प्रदान कर रहा हो तो अंत मुखी रुद्राक्ष का पानी पीना प्रारम्भ कर दीजिये। आठ मुखी रुद्राक्ष माताएं अपने उलटे हाथ में बांध सकती है और पुरुष अपने गले में धारण कर सकते है महाराज। जिनको शुगर की बीमारी हो ब्लड प्रेशर की बीमारी हो अंत मुखी रुद्राक्ष फल प्रदान करता है महाराज।

आठ मुखी रुद्राक्ष का एक नियम भी है यदि शुगर बहुत ज्यादा है और कंट्रोल में नहीं आ रही तो गाय के गोबर का कंडा (उपला जिसे थेपते है ) उस कंडे के ऊपर हल्दी डाल कर उस पर पाँव रख कर आठ मुखी रुद्राक्ष का मंत्र ॐ हूं नमः का जप करते हुए लगभग २० मिनट बैठ जाओ। तीन दिन के अंदर शुगर लेवल में आना प्रारम्भ हो जाएगी।

आठ मुखी रुद्राक्ष की कीमत(8 Mukhi Rudraksha Price)

8 मुखी रुद्राक्ष आपको 3000 रुपये के आस पास मिल जायेगा। जो नेपाली 8 मुखी की कीमत है। कुछ बेहतर गुणवत्ता का 8 मुखी रुद्राक्ष (collector beads) जो नेपाली बड़े आकार का होता है उनकी कीमत ५०००-१०००० रुपये के आस पास होती है ।

यह भी जाने : बुध और गुरु के लिए 4 मुखी रुद्राक्ष के फायदे
यह भी जाने :लाल किताब के आमदनी बेहतर करने के उपाय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here